CONCOR

एक नवरत्‍न कंपनी
Container Corporation India Ltd.
कंटेनर की बात, कॉनकॉर के साथ
 
कॉनकॉर मानव संसाधन सिद्धांत और विजन

कॉनकॉर मानव संसाधन सिद्धांत और विजन

कॉनकॉर सबको समान अवसर देने वाला और जीवनभर के लिए रोजगार देने वाला नियोक्‍ता है। कॉनकॉर का विश्‍वास है कि सफलता और संवृद्धि में मानव संसाधन एक महत्‍वपूर्ण कुंजी है। मानव संसाधन नीति का मुख्‍य बिंदु कर्मचारी को संगठन के व्‍यवसाय के साथ जोडे। कॉनकॉर की मानव संसाधन नीतियों का लक्ष्‍य कर्मचारियों और संगठन के उद्देश्‍यों के अनुरूप हैं।

कॉनकॉर की मानव संसाधन नीति के मूल में कर्मचारी सशक्‍तिकरण को प्रोत्‍साहित करता है। कर्मचारियों को उनकी क्षमता पहचान कर, अभिनव विचारों को प्रोत्‍साहित करना और पारितोषिकों का निष्‍पक्ष वितरण इसके मूल में है। कॉनकॉर का मानना है कि सही दिशा में किए जाने वाले परिवर्तनों से संगठन प्रतिबद्ध कर्मचारियों का सजीव और जिम्‍मेदार निगमित और सबके विकास के लिए रूपांतरित हो जाएगा।

मानव संसाधन विभाग का मौलिक कार्य प्रशिक्षित और प्रेरित कर्मचारी जुटाना है। ऐसे कर्मचारी अपने कौशल और योग्‍यता के बल पर कॉनकॉर के लक्ष्‍यों की प्राप्‍ति में सहायक होते हैं। इससे कर्मचारियों में अपनत्‍व की और कंपनी में बने रहने की भावना को बल मिलता है।

कॉनकॉर में मानव संसाधन के व्‍यापक उद्देश्‍य

  • एक ऐसे एचआर प्रणाली और संगठन क्षमता को विकसित करना जो उचित प्रतिभा को आकर्षित, विकास, प्रेरित, संगठित व बनाए रख सके।
  • मानव संसाधन से संबंधित कार्मिक नीतियों और प्रक्रियाओं का एक गतिशील ढांचा तैयार करना जिससे मानव संसाधनों का प्रभावी इस्‍तेमाल हो सके।
  • संगठन के स्‍टैक धारकों को सुचारू सेवा देने हेतु मानव संसाधन की क्षमता का निर्माण करना।
  • कार्य की गुणवत्‍ता और एक अच्‍छे कार्यस्‍थल प्रदान करने वाले संगठन के रूप में कॉनकॉर ख्‍याति का निर्माण करना।
  • कॉनकॉर में दूसरे संगठनों के मुकाबले में ऐसी मानक एचआर की सर्वोत्‍तम नीतियां बनाना कि नौकरी चाहने वाले अभ्यार्थी कॉनकॉर के प्रति आकर्षित हों और कॉनकॉर को प्राथमिकता दें।
  • प्रतिभा को प्रेरित एवं पोषित करना सुनिश्‍चित करने को संगठन में वृद्धि करने हेतु और उनके कर्मचारी जीवन-वृत्‍ति में विकास हेतु अवसर प्रदान करना।
  • ऐसी नीतियों का निर्माण करना जिससे कर्मचारी सम्‍मानित और पुरस्‍कर पाएं जो स्‍पष्‍ट, पारदर्शी और तर्कसंगत हों।
  • संगठनात्‍मक प्रक्रिया में पारदर्शिता लाकर अनाचार पर नियंत्रण करके और सामाजिक दायित्‍व व्‍यवहार को बढावा देकर संगठन में सदाचार माहौल का निर्माण करना।
  • कर्मचारी, संगठन और लाभार्थियों के आपसी लाभ के परिवर्तन का प्रबंध करना।
  • सूचना प्रौद्योगिकी के माध्‍यम से कर्मचारियों को प्रसन्‍न रखने के लिए ई-एचआर